About Author

About

Surendra Rajput

Hindi blogger and Social Media Expert.

तांबे और पीतल के बर्तन क्यों पड़ते हैं काले?

Drinking water in copper jug is very useful for health but copper and brass turns black/green. Know why.

अब चार धाम यात्रा ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन उत्तराखंड टूरिज़्म के मोबाइल एप्प पर उपलब्ध है

हिन्दू धर्म में चार धाम यात्रा का बहुत ही महत्त्व है यही कारण है चार धाम यात्रा में श्रद्धालुओं की भारी भीड़ होती है. भारी भीड़ के कारण रजिस्ट्रेशन काउंटर पर लम्बी लम्बी कतारें लग जाती है और काफी समय यात्रा रजिस्ट्रेशन कराने में ही खर्च हो जाता है.

बैंकों का 9000 करोड़ लेकर फरार विजय माल्या 62 की उम्र में गर्लफ्रेंड पिंकी लालवानी से करने जा रहे हैं तीसरी शादी

शराब कारोबारी और भारतीय बैंकों से 9 हजार करोड़ रुपये का कर्ज लेकर भागे विजय माल्या तीसरी शादी करने जा रहे हैं। 62 की उम्र में सिर पर सेहरा सजाने को तैयार विजय माल्या की दुल्हन बनेंगी गर्लफ्रेंड पिंकी लालवानी।

क्या पूरा होगा दिवास्वप्न? हिंदी कविता

धीरे से, कोई आहट न हुई

फिर आज तोड़ दी गयी आशंकाएं

इस बदरंग जमाने में

कुचल दी गयी संवेदनाएं

कार्दाशेव स्केल के अनुसार ब्रह्माण्ड में हम किस लेवल की विकसित सभ्यता पर हैं?

अगर हम मानव विकास के क्रम को छोड़ सम्पूर्ण ब्रह्माण्ड में विकास की बात करें तो….. तो इसके लिए हमारे वैज्ञानिकों ने बहुत सारी रिसर्च की. इसमें से एक रिसर्च है वैज्ञानिक कार्दाशेव की. इन्होने सभ्यता को मापने के लिए एक पैमाना तैयार किया है, आइये जानते हैं कार्दाशेव और उनकी थ्योरी के बारे में.

श्री गणेश जी के वॉलपेपर डाउनलोड करे फ्री में

Free Download Shri Ganesha Wallpapers – Hindu God Wallpapers

तुरंत इन 42 चीनी ऐप्स को फोन से डिलीट करें क्यूंकि ये हैं सरकार की ‘खतरनाक एप्स’ की लिस्ट में

पिछले कुछ महीनों में भारतीय सेना ने अपने जवानों द्वारा इंस्टेंट मेसेजिंग ऐप्स के इस्तेमाल को लेकर एक और एडवाइज़री

इस बस स्टैंड पर बस का इन्तजार करने का है अपना एक अलग मजा

बस का इन्तजार करना भला किसे अच्छा लगता है, लेकिन यहां पर लोग मजे लेकर बस का इन्तजार करते हैं.

मर्डर के इस केस को सुनने के बाद जज भी चक्कर में पड़ गए

इस केस के बाद जज भी चक्कर खा गया..   एक रेगिस्तान में जहां पानी का नमो-निशान तक नहीं था,

चलो पकौड़ा बेचा जाए

आजकल पकौड़े की बड़ी धूम है. पकौड़ा बेचना कम से कम बेरोजगारी से तो अच्छा ही है. वैसे भी खाना खिलाना पुण्य का काम है. कमाई में भी ठीक ठाक है. पढ़ लिखकर बेरोजगारी से बिना पढ़े कम इन्वेस्टमेंट में अच्छी कमाई कर सकते हैं.

Load more
Loading...
No More Posts