About Author

About

यहाँ मैं अजनबी हूँ

किससे करूँ शिकवा शिकायत ,

किससे करूँ यारी दोस्ती ,

किससे करूँ नफरत दुश्मनी ,

यहाँ मैं अजनबी हूँ .

मैं अभी रास्ते में हूँ

मंजिलों के हाल न पूंछो,
अभी तो रास्ते में हूँ .
मंजिलें हैं अभी बहुत दूर ,
अभी तो वक्त लगेगा .

पहला प्यार – एक छोटी सी कविता

पहला प्यार होता है ,
ईश्वर का दिया हुआ मौका ,
तन मन की बहार की,
निर्मल वयार का सुगन्धित झोंका

बस नहीं अपना

इक खुशनुमा लम्हा आकर गुजर गया
क्या हुआ कुछ दूर साथ चले ,
क्या हुआ चलकर विछड़ गए ।
सोचो एक खूबसूरत मोड़ न दे सके
वरना याद आते उम्र भर

सावधान – कैमरे कहीं भी हो सकते हैं

आजकल कैमरों का बड़ा जोर है. बड़े से लेकर छोटे कैमरे कहीं भी मिल जाते हैं. पहले सिर्फ नेगेटिव या रील वाले ही कैमरे होते थे पर अब तो डिजिटल कैमरों ने दुनिया ही बदल दी. मोबाइल में कैमरा, कहीं भी निकल और चालू हो गए, फोटो खींचने में या फिर वीडियो बनाने में.

हिन्दुस्तान की हालत का अंदाज़ा लगाओ

अपनी मातृ भाषा की किस तरह धज्जियाँ उड़ाते हैं ये सरकारी नोटिस बोर्ड. क्या आपने गौर किया है इस तरह के नोटिस बोर्ड पर?

फूल ऐसे ही सुन्दर नहीं होते हैं

फूल कैसे भी हों सुंदरता तो होती है. और सुंदरता सभी को भाती है. सोचिये, अगर इस धरती पर पेड़ पौधे नहीं होते तो ये धरती कैसी लगती. पेड़ पौधे होंगे तभी फल फूल भी होंगे. तो आइये इस धरती को हरा भरा और खूबसूरत बनाएं.

लाल किला – दिल्ली का मुख्य पर्यटन स्थल

दीवान-ए-खास, राजा के मंत्रिमंडल एवं निजी सभाओं के लिए है. इसकी वास्तुकला देखने लायक है, इसमें खम्भों पर पेट्रा ड्यूरा का बहुत सुन्दर काम किया गया है. यहीं पर विख्यात मयूर सिंहासन स्थित था जिसे लुटेरा नादिरशाह लूट कर ईरान ले गया था.